Business man or तोते की कहानी | Motivational story hindi with Motivational qoutes

Business man or तोते की कहानी

Motivation story in hindi | best inspiration story

तो स्टोरी ऐसी है एक बार एक तोता बिजनेसमैन के घर पर रहता था दोनों में बहुत ज्यादा जमती भी थी दोनों आपस में बातें भी किया करते थे। बिजनेसमैन पूजा-पाठ पर ज्यादा विश्वास सकता था मैं हमेशा सत्संग के लिए भी जाया करता था 1 दिन तोते ने उसे पूछा कि तुम अपने गुरु जी से पूछना कि मैं अपना जीवन खुशहाल कैसे जी सकता हूं तो बिजनेस ने कहा ठीक है मैं अपने गुरु जी से पूछ लूंगा जब बिजनेसमैन गुरुजी पास जाता है और उनसे यह सवाल पूछता है कि मेरा तोता कह रहा है कि मैं अपना जीवन कैसे खुशहाल जी सकता हूं।
Motivational story hindi with Motivational qoutes
Motivation story


उसी वक्त गुरुजी सवाल सुनते ही बेहोश हो जाते हैं चारों तरफ अफरा-तफरी मच जाती है फिर थोड़ी देर बाद गुरुजी को होश आता है और वह खड़े हो जाते हैं बेहोश होने के बाद वह सवाल का जवाब नहीं मांगता और वापस घर चला जाता है घर जाकर वह अपने तोते से कहता है अरे तुम तो बहुत मनहुस तुम्हारे सवाल सुनते ही गुरुजी बेहोश हो गए इसके बाद बिजनेसमैन खाना खाकर रात को सोने के लिए चला जाता है जब वह सुबह उठकर तोते को पानी पिलाने के लिए जाता है तो तोता मरा हुआ होता है तब वह उस तोते को पिंजरे से बाहर निकालता है उसी वक्त को तोता उठ जाता है और कहता है तुम्हारे गुरुजी तुम्हें ही समझाना चाहते हैं कि मेरी जिंदगी इस पिंजरे में नहीं है और तोता वहां से फट से उड़ जाता।
Motivational story hindi with Motivational qoutes
Motivation story


Motivation poem | motivational qoutes

Motivational story hindi with Motivational qoutes
Motivation qoutes

दोस्तों हमारी लाइफ भी इसी तरह है। हम सोचते हैं जब तक कुछ बड़ा नहीं होगा हम कुछ कर नहीं पाएंगे लेकिन यह छोटी-छोटी चीजें हमें सीख देती है अगर हम इन पर गौर करें।
और दोस्तों कुछ ऐसे ही मोटिवेशन लाइन और मोटिवेशनल पोयम्स है।
जो खुद ही तय करते हैं मंजिल आसमानों की
परिंदों को नहीं दी जाती तालीम उड़ने की
आते हैं जो हौसला आसमान छूने का उन्हें नहीं परवाह कभी गिर जाने का।
एक बहुत अच्छे कवि ने  कितनी सुंदर लाइन लिखी है।
अरे मत कर आंसू बेकार क्या पता कभी कोई समुंदर ही पानी मांगने आ जाए।
प्यासे के पास कुवा आता नहीं है यह कहावत है कोई वानी नहीं। जिसके पास देने को कुछ ना हो दुनिया में ऐसा कोई एक भी प्राणी नहीं।
कर स्वयं हर गीत अंगार ना जाने किस देवता को कौन सा भाग जाए।
चोट खाकर गिरते हैं सिर्फ दर पर किंतु आकृति कभी टूटती नहीं।
और आदमी से टूट जाता है सब कुछ पर समस्याएं कभी नहीं टूटती है और हर छलकते आंसू को करो प्यार ना जाने आत्मा को कौन सा नहला दे।
व्यर्थ है करना खुशामद रास्तों की, काम अपने पांव है आते हैं हर सफर में।
और आगे है कि कुछ करके दिखाओ कुछ करके दिखाओ यह जीवन मिला है इसमें नए सपने सजा ओ।
हम आए हैं ना अपनी मर्जी से फिर कैसे चले जाएंगे खुद की खुदगर्जी से, बहुत कुछ है देने को इस समाज को और बहुत कुछ है हमें लेने को इस समाज से, अपनी पहचान बनाओ और जो कुछ भी मिला है उसे औरों के साथ बढ़ते जाओ।
जब बच्चा पैदा होता है तो मां-बाप कहते हैं कि यही करेगा हमारा नाम रोशन पीढ़ी दर पीढ़ी चली गई यह कहानी की करके दिखाओ तुम भी अपने खून को गर्म।
रोज सब कहते हैं कि दम है तो सामने आओ अपनी ताकत से नहीं अपने दिमाग से कुछ करके दिखाओ जो मेहनत करेगा वह कल मीठा फल पाएगा और जो लड़खड़ा गया अपने कदम से वह फिर कभी ना चल पाएगा।
हर पल में छिपी है ज्ञान की एक लंबी दास्तां उस दास्तां में डूबते जाओ और तय करते जाओ बहुत से विद्यार्थी हार जाते हैं चलकर कुछ कदम कहते हैं कि कहते हैं हम में नहीं है दम।
अगर हौसला हो बुलंद तो हार में भी जीत है जज्बा कुछ करने का तो हार घड़ी में प्रीत है।
दोस्तों कहते हैं
Motivation poem|motivational qoutes

अगर हीरो को परखना हो तो अंधेरे का इंतजार करो धूप में तो कांच भी चमकते हैं सीढ़ियां उनके लिए बनी है जिन्हें सिर्फ छत पर जाना है जिनकी हो आसमां पर नजर उन्हें तो अपना रास्ता खुद ही बनाना है अच्छी किताबें और अच्छे लोग जल्दी समझ में नहीं आते पर दुनिया में इतना दम नहीं कि तुझे आगे बढ़ने से रोक सके।
अंत में किस तरीके से काम करिए आप के काम करने से कोई ना कोई बदलाव जरूर आए और कभी नहीं कभी  बदलाव लगाकर ही रहेगा।
कहते हैं अगर ठोकर खाकर नहीं संभले तो तुम्हारा नसीब क्योंकि पत्थरों ने तो अपना काम दिखा दिया। और अगर टूटने लगे जब भोंसले बस यही याद रखना कि बिना मेहनत के तो ताज भी हासिल नहीं होते और ढूंढ लेना अंधेरों में ही मंजिल दोस्तों क्योंकि जुगनू रोशनी के मोहताज नहीं होते। इन बातों में फर्क सिर्फ इतना है कि टीचर सिखा के इम्तिहान लेता है लेकिन वक्त इम्तिहान लेने के बाद सिखाता है आज कोई किसी का साथ नहीं देता लोग भी बस तब याद करते हैं जब वह अकेले होते हैं।
और इंसान रिश्ते बदलता है दोस्त बदलता है फिर भी ना जाने वह परेशान क्यों रहता है क्योंकि वह खुद को नहीं पता पाता मोहन रहना एक साधना है सोच समझकर बोलना एक कला और कोई रिश्तेदार तब तक बेकार है जब तक इज्जत और अपनापन ना हो।
वाह रे जिंदगी एक तरफ कहती है कि सब्र का फल मीठा होता है और दूसरी तरफ कहती है के वक्त किसी का इंतजार नहीं करता।

यह Motivational कहानियां भी जरूर पढ़ें।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां